नई दिल्ली:

इफको ने एक उल्लेखनीय पहल के तहत खेती और किसानी को लोकप्रिय बनाने और युवा पीढ़ी को इससे जोड़ने के लिए ट्वीटर और हैशटैग की शैली का इस्तेमाल करते हुए #HamaraKisan अभियान लांच किया है। इस अभिनव पहल के जरिए इफको का प्रयास है कि किसानों के साथ युवा पीढ़ी की एकजुटता को ट्वीटर जैसी सोशल साइट्स और वेबसाइट के माध्यम से लोकप्रिय अभियान के रूप में तब्दील किया जाए ताकि लोगों को खेती किसानी के प्रति जागरूक किया जा सके। इफको का मानना है कि इस अभियान के जरिए देश के लिए अन्न उपजा रहे किसानों के प्रति आभार और सम्मान प्रकट किया जा सकेगा।

यही नहीं इफको के इस अभियान का हिस्सा बन कर ट्वीटराती युवा आकर्षक इनाम भी पा सकते हैं।  अभियान का हिस्सा बनने की प्रक्रिया बेहद सरल है। अपने ट्वीटर अकाउंट के जरिए इस अभियान के जनक और इफको के प्रबंध निदेशक डॉ. यु. एस अवस्थी को फॉलो करना है और खेती किसानी के प्रति अपनी एकजुटता दिखाने के लिए किसानी से जुड़े अपने अपने विचारों को #HamaraKisan हैशटैग के साथ शेयर कर देना है। देश का किसान किन परिस्थितियों में जीवन गुजारता है, किन परिस्थितियों से जुझता हुआ देश के लिए भोजन का प्रबंध करता है, किन परिस्थितियों में वो काम करता है, ये कुछ ऐसे विचार हैं जिनको आम ट्वीटराती शेयर करके न केवल खेती किसानी से खुद को जोड़ सकते हैं बल्कि अपने बेहतरीन संदेशों के बदले में आकर्षक इनाम भी पा सकते हैं। बस इन विचारों को ट्वीट, री ट्वीट और शेयर भर करना है।

दरअसल #HamaraKisan अभियान खेती किसानी से लोगों को जोड़ने के लिए इफको की एक व्यापक रणनीति का हिस्सा भर है। #HamaraKisan अभियान के मद्देनजर इफको ने एक डेटिकेटेड वेबसाइट http://www.iffcolive.com/hamarakisan भी शुरू करने का फैसला किया है। खेती किसानी और ग्रामीण भारत को समझने के लिए पढ़े लिखे युवाओं के लिए रूरल वालिंटियर जैसे विकल्प भी इस वेबसाइट पर उपलब्ध हैं। साल भर में दो महीने के लिए इफको देश भर से दस से पंद्रह ऐसे मेधावी छात्रों का चयन करेगी जो ग्रामीण भारत और कृषि को समझना चाहते हैं और सामाजिक कार्यों में जिनकी रूचि है। इफको की इस फेलोशिप कार्यक्रम के लिए प्रत्येक छात्र को पंद्रह हजार रुपये का स्टाइपंड भी प्रदान किया जाएगा।

अपनी इस नई वेबसाइट के जरिए इफको की कोशिश स्टार्ट अप फंड के जरिए बिजनेस के नए विचारों को सामने ला कर उनको गति प्रदान करना भी है। इसके जरिए नए बिजनेस आइडियाज को बैंक से वित्तिय मदद उपलब्ध कराकर उनकी फंड की कमी को दूर करना, उद्यमिता को बढ़ावा देकर रोजगार के नए अवसर पैदा करना है। इसके लिए इफको ने दस करोड़ रुपये के कोष की स्थापना भी की है ताकि नए विचारों को प्रोत्साहित किया जा सके।

इफको इस नई वेबसाइट के जरिए नीम के पौधारोपण और उनके फलों को बायो फर्टीलाइज़र में इस्तेमाल को बढ़ावा देने, किसानों को सीधी सब्सिडी उपलब्ध कराने के सरकार की पहल को सुचारू बनाए रखने में मदद करने और भूमि बचाओ जैसे अभियान को लोकप्रिय बनाना चाहती है।

COMMENTS

Share This: