neemNPK का दाम घटाने के बाद फ़र्टिलाइज़र की सबसे बड़ी सहकारी कंपनी इफको , किसानों के लिए इस साल फिर एक बड़ी ख़ुशख़बरी लाई है। दरअसल इफ्को ने इस साल इलाहाबाद में नीम आधारित कारखाना लगाने की शुरुआत की है। इस कारखाने में नीम के  निमोरियों  से तेल निकाला जाएगा। इसमें रोज़ाना २२ टन निमोरियों  से २ टन नीम का तेल निकाला जायेगा। इसके अतिरिक्त इन निमौलियों का उपयोग यूरिया उत्पादन में भी होगा। इफ्को ने नीम कारखाने में उपयोग में लाये जाने वाले  निमोरियों  को किसानों से ही खरीदने का फैसला किया है। इसके लिए इफ्को पूरे देश में कई स्थानों पर ‘निमोरी सेन्टर’ खोलेगी, जहाँ पर किसान १५ रुपये / किग्रा के दाम पर  निमोरियों  को बेच सकेंगे।
इसके अलावा, जुलाई के महीने में इफ्को ने पूरे देश भर के किसानों मे ५ लाख नीम के पौधे मुफ़्त बांटने की योजना बनाई है। इफ्को के इस कदम से ‘एक तीर से कई निशानें’ ताके जाएंगे। नीम का पेड़ वायु और वातावरण को शुद्ध करता है और निमोरियाँ  जो प्रतिदिन कूड़े में फेकीं जाती हैं उनका भी उपयोग होगा। नीम से बना यूरिया मिट्टी की सेहत के लिए लाभकारी है मिट्टी को कीड़े लगने से सुरक्षा प्रदान करेगा। इस तरह औषधि-गुण वाला नीम किसानो के लिए कमाई का जरिया भी बनेगा।

COMMENTS

Share This: